WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Gupt Navratri Ke Mantra गुप्त नवरात्रि में इन मंत्रों का जाप करने से दूर होगी आपकी ये सब परेशानी

Gupt Navratri Ke Mantra गुप्त नवरात्रि में इन मंत्रों का जाप करने से दूर होगी आपकी ये सब परेशानी : यह तो सब जानते है की हमारे हर साल दो बार नवरात्रा का उत्सव बड़ी धूमधाम से बनाया है पर क्या आप जानते है की वर्ष में नवरात्रा दो बार नही बल्कि चार बार आते है जी हाँ दो नवरात्रा को गुप्त नवरात्र कहा जाता हैं ! वैसे आपने गुप्त शब्द से कुछ आईडिया लगा लिया होगा जैसा नाम वैसा काम गुप्त नवरात्रा को गुप रूप से किये जाते हैं ! गुप्त नवरात्र में किये गये उपाय, मंत्र, साधना या कोई सी भी पूजा पाठ और दिनों से जल्दी सिद्ध व प्रभाव देती है !

जल्दी शादी होने का मंत्र

जिस भी लड़का या लड़की का विवाह में परेशानी आ रही हो तो बताये जा रहे इस Gupt Navratri Ke Mantra को आपको गुप्त नवरात्रि के दिनों में सुबह जल्दी जगकर नित्य कर्म से निवृत होकर साफ़ कपडे पहनकर अपने सामने भगवान शिव-पार्वती जी की फोटो रखें ! उनकी विधिवत पूजन करें ! उसके बाद दिए गये मंत्र की रोज़ाना 3, 5 या 11 माला का जाप करें ! और भगवान शिव-पार्वती जी से शादी में आ रही बाधा को दूर करने की प्रार्थना करें ! ऐसा करने से आपका विवाह जल्दी हो जायेगा ! मंत्र:

“ऊँ शं शंकराय सकल-जन्मार्जित-पाप-विध्वंसनाय, पुरुषार्थ-चतुष्टय-लाभाय च पतिं मे देहि कुरु कुरु स्वाहा ।।”

मनपसंद शादी करने का मंत्र

जो भी लड़की अपने मनपंसद लड़के से शादी करना चाहती हो तो बताये जा रहे इस Gupt Navratri Ke Mantra को आपको गुप्त नवरात्रि के दिनों में सुबह जल्दी जगकर नित्य कर्म से निवृत होकर साफ़ कपडे पहनकर अपने पास वाले शिव जी के मंदिर में जाये उसके बाद वहां भगवान शिव एवं मां पार्वती जी पर जल में मिश्रित गंगाजल एवं कच्चा दूध चढ़ाएं और पंचोपचार ( चंदन, पुष्प, धूप, दीप एवं नैवेद्य ) से पूजन करें ! उसके बाद मौली लेकर भगवान शिव एवं मां पार्वती जी का गठबंधन करें ! उसके बाद लाल चंदन की माला से दिए गये मंत्र का जाप करें ! ऐसा आप लगातार 3 महीने करें ऐसा करने से आपकी शादी आपके मनपसंद लड़के या मनपसंद वर से होगी ! मंत्र:

“हे गौरी शंकरार्धांगी। यथा त्वं शंकर प्रिया । तथा मां कुरु कल्याणी, कान्त कान्तां सुदुर्लभाम्।।”

सुखी दाम्पत्य जीवन का मंत्र

१. यदि आपके और आपके जीवन साथी के साथ अनबन रहती हो तो दिए गए इस Gupt Navratri Ke Mantra को आपको गुप्त नवरात्रि के दिनों में नीचे दिए गये मंत्र का जाप करते हुए 108 बार अग्नि में घी से आहुतियां देनी चाहिए ! ऐसा आपको पुरे गुप्त नवरात्रि में करना है जिससे यह मंत्र सिद्द हो जायेगा ! उसके बाद आपको हर दिन इस मन्त्र का जाप 21 बार करें ! यदि हो सके तो अपने जीवन साथी से भी जाप कराए ! ऐसा करने से पति व् पत्नी के बीच में अनबन समाप्त हो जाएगी ! मंत्र:

“सब नर करहिं परस्पर प्रीति। चलहिं स्वधर्म निरत श्रुति नीति।।”

२. यदि परिवार के सदस्यों से लड़ाई झगड़ा रहता हो तो इस Gupt Navratri Ke Mantra को जातक गुप्त नवरात्रि में प्रतिदिन दिए गये मंत्र की 3 माला स्फटिक की माला से भगवान श्री राम और माता सीता जी के सामने जाप करें ! और अंतिम गुप्त नवरात्र के दिन नीचे दिए गये मंत्र को 11 बार उच्चारण करते हुए घी से अग्नि में आहुति प्रदान करें व खीर का भोग लगाएं ! मंत्र:

“जब ते राम ब्याहि घर आए। नित नव मंगल मोद बधाए।।”

नोट : बताये गये Gupt Navratri Ke Mantra को करने से पहले आप हर दिन सुबह जल्दी जग कर नित्य कर्म से निवृत होने के बाद साफ़ कपडे पहन ले और लाल आसन पूर्व की तरफ मुंह करके बैठकर अपने सामने चोकी पर श्री भगवती माँ दुर्गा माँ की प्रतिमा रखें ! और माँ दुर्गा माँ का पंचोपचार, षोडषोपचार कर आरती करें ! जाप करते समय माँ दुर्गा जी के प्रति श्रदा भाव रखें ! जप पूर्ण होने पर देवी के बाएं हाथ में जप समर्पण करें !

Leave a Comment

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now