WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Chandra Grahan Me Kya Kare चन्द्र ग्रहण के दौरान न करें ये काम, वरना हो सकता है बड़ा नुकसान जानें-क्या करें और क्या ना करें?

Chandra Grahan Me Kya Kare चन्द्र ग्रहण के दौरान न करें ये काम, वरना हो सकता है बड़ा नुकसान जानें-क्या करें और क्या ना करें? : आज हम आपको चन्द्र ग्रहण के समय क्या कार्य करना चाहिए और क्या कार्य करने से बचना चाहिए इसके बारे में जानकरी देने जा रहे हैं। हमारे द्वारा यहां बताई जा रही Chandra Grahan Me Kya Kare को पढ़कर आप भी बड़ा नुकसान होने को बचा सकते हैं। जिन्हें आप चन्द्र ग्रहण के समय ध्यान में रखकर अपने जीवन में हानि होने से बचा सकते हैं। इस वर्ष 2024 में पहली बार चन्द्र ग्रहण 24 मार्च वार रविवार के दिन होने जा रहा है।

Chandra Grahan Me Kya Kare चन्द्र ग्रहण के दौरान न करें ये काम, वरना हो सकता है बड़ा नुकसान जानें-क्या करें और क्या ना करें?

चन्द्र ग्रहण में क्या करे और चन्द्र ग्रहण में क्या ना करे

  • चन्द्रग्रहण के समय भोजन करने वाला मनुष्य जितने अन्न के दाने खाता है, उतने वर्षों तक ‘अरुन्तुद’ नरक में वास करता है।
  • चन्द्रग्रहण से पहले जिन पदार्थों में कुश या तुलसी की पत्तियाँ डाल दी जाती हैं। वे पदार्थ दूषित नहीं होते है। यदि पके हुए अन्न व् भोजन का त्याग करके उसे गाय, कुत्ते को डालकर नया भोजन बनाना चाहिए।
  • चन्द्र ग्रहण के समय अधिक जरुरत होने पर ही तिल या कुश मिश्रित जल का उपयोग लेना चाहिए।
  • चन्द्रग्रहण के समय पत्ते, तिनके, लकड़ी और फूल नहीं तोड़ने चाहिए। बाल तथा वस्त्र नहीं निचोड़ने चाहिए व दंतधावन नहीं करना चाहिए व ग्रहण के समय ताला खोलना, सोना, मल-मूत्र का त्याग, मैथुन और भोजन आदि ये सब कार्य वर्जित हैं।
  • चन्द्रग्रहण के समय कोई भी शुभ व नया कार्य शुरू नहीं करना चाहिए।
  • चन्द्र ग्रहण के समय सोने से रोगी, लघुशंका करने से दरिद्र, मल त्यागने से कीड़ा, स्त्री प्रसंग करने से सूअर और उबटन लगाने से व्यक्ति कोढ़ी होता है।
  • स्कन्द पुराण के अनुसार चन्द्रग्रहण के समय दुसरे का अन्न खाने से बारह वर्षों का एकत्र किया हुआ सब पुण्य नष्ट हो जाता है।
  • देवी भागवत के अनुसार चन्द्रग्रहण के समय पृथ्वी को खोदना नहीं चाहिए।

चन्द्रग्रहण में क्या करें गर्भवती महिलाएं

  • चन्द्रग्रहण काल व सूतक के समय गर्भवती स्त्री को अपने घर से बाहर निकलना चाहिए।
  • गर्भवती महिलाएं ग्रहण को देखने की कोशिश भी नही करनी चाहिए।
  • गर्भवती महिलाएं को ग्रहण काल के समय भगवान् का जाप करना चाहिए।
  • चन्द्र ग्रहण काल में गर्भपात की संभावना बढ़ती है। इसलिए गर्भवती के उदर भाग में गोबर और तुलसी का लेप लगा देना चाहिए।
  • ग्रहण काल गर्भवती स्त्री को कैंची, चाकू आदि से काटने, वस्त्र आदि को सिलने आदि कार्य नही करने चाहिए।

चंद्र ग्रहण दोष निवारण उपाय

  • जिस भी जातक की कुंडली में चंद्र ग्रहण दोष हो यानी की चंद्रमा राहू के साथ हो या केतु के साथ विराजमान या दृष्टी होती है तो चंद्र ग्रहण दोष कहा जाता है।
  • चन्द्र राहू से ग्रहण दोष है तो 1 किलो जौ दूध में धोकर और एक सुखा नारियल लेकर उसे बहते हुए जल में चंद्र ग्रहण वाले दिन बहायें और साथ में 1 किलो चावल मंदिर में चढ़ा दे, ऐसा करने से चन्द्र राहु से बनने वाले दोष से हो रही परेशानी से निजात मिलता है।
  • चन्द्र केतु से ग्रहण दोष है तो चंद्र ग्रहण वाले दिन चूना पत्थर ले उसे एक भूरे कपडे में बांध कर बहते हुए जल में बहा दें। और एक लाल तिकोना झंडा किसी मंदिर में चढ़ा दे. ऐसा करने से चन्द्र केतु से बनने वाले दोष से हो रही परेशानी से निजात मिलता है।

संदर्भ: इस Chandra Grahan Me Kya Kare चन्द्र ग्रहण के दौरान न करें ये काम, वरना हो सकता है बड़ा नुकसान जानें-क्या करें और क्या ना करें? की पोस्ट में आपको चन्द्र ग्रहण के दिन क्या कार्य करना चाहिए और क्या कार्य करने से बचना चाहिए इसके बारे में जानकारी दी गई हैं।

Leave a Comment

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now